यह लड़ाई किसान और सरकार की तो है ही साथ ही लड़ाई हमारे अस्तित्व की है। हमारे वजूद की है। इससे बढ़कर इंसानियत की है। हम भूमिपुत्र सारी दुनिया का पेट भरते हैं और आज हम ही अपनी जरूरत के लिए मुहताज है। आजादी के बाद भारत में सभी वर्गों की आय मे 200 गुना की वृद्धि हुई है जबकि किसान की आय में मात्र 19 गुना की। इन 73 वर्षों में बहुत कुछ बदलाव हुए हैं लेकिन किसान के जीवन में कोई बदलाव नहीं दिखता।

नन्हा अंश

प्राचीन इतिहास हमारे अतीत की ऐसी कहानी है जिसे जीकर हमारे पूर्वजों ने आज हमें 21वीं सदी में पहुंचा दिया है। परंतु आदिमानव के समय से लेकर आज तक के इस रोबोट युग तक का सफर बड़ा ही रोचक रहा है।

Create your website at WordPress.com
Get started